पतला दुबला हुआ तो हमेशा बलि का बकरा बनाओगे क्या चहल को ?

युजवेंद्र चहल आईपीएल में सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ हैं, और सिर्फ आईपीएल में नहीं अब तो भारत की तरफ से T20 क्रिकेट में भी सबसे ज़्यादा विकेट लेने गेंदबाज़ हैं, पर ऐसा लगता हे की भारतीय क्रिकेट में उन्हें वो इज्जत नहीं मिलती जिसके वो हकदार हैं।

अपने पहले ही अंतरास्ट्रीय सीरीज में मैन ऑफ़ दा सीरीज जीतने वाले चहल एक शातिर गेंदबाज़ हैं, जो हमेशा बैट्समैन के दिमाग से खेलते रहते हैं। पर इस बेहतरीन खिलाड़ी को टीम इंडिया से वो सपोर्ट न मिल पाना जिसका वो हकदार हे, देखकर क्रिकेट फैंस को बड़ा दुःख होता हे।

२०२१ और २०२२ के T२० के दोनों वर्ल्ड कप में हैरानी करने की बात ही होगी की चहल की जगह ही नहीं बनी।

जहां २०२१ वर्ल्ड कप में राहुल चाहर को ये कहके टीम में शामिल किया गया की टीम इंडिया ऐसे स्पिनर की तलाश में हे जो हवा में थोड़ा तेज फेंके।

हालांकि राहुल चाहर के एक्शन और तेवर देखके लगता होगा की चाहर भी हवा में तेज हैं पर उनकी भी बॉल ८५ किलोमीटर प्रति घंटा की एवरेज स्पीड से ही पहुँचती हे। २०२१ वर्ल्ड कप में राहुल चाहर को लेके जाना इंडिया को तब भारी पड़ गया जब प्रैक्टिस मैचेस में ही उनको बहुत मार झेलनी पड़ी। और इसी वर्ल्ड कप में भारत को झेलनी पड़ी १० विकेट से हार, वो भी पाकिस्तान द्वारा।

चहल जैसा चालाक स्पिनर अगर टीम में होता तो ज़रूर ही टीम के लिए ऐसे मौके तो निकलता जहां से विकेट आने की उम्मीद हो पर जो टीम भारत ने २०२१ के वर्ल्ड कप में खिलाई, चहल जैसे एक क्वालिटी स्पिनर की कमी साफ़ झलक रही थी।

फिर आया २०२२ वर्ल्ड कप और इस बार भी किसी और प्लेयर को बलि न बकरा बनाके, चहल को ही टीम से बहार का रास्ता दिखाया गया। आश्विन को टीम में शामिल किया गया , हालांकि पाकिस्तान के खिलाड़ चौका मारकर उन्होंने लीग मुकाबले में तो टीम इंडिया को जीत दी, पर बोलिंग में वो एकदम साधारण ही नज़र आये, और भारत के लिए कुछ कर न पाए।

अभी चल रही वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज में भी कुलदीप यादव को चहल से ऊपर खिलाया गया। और अभी घटित दुसरे T20 मुकाबले में चहल ने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए एक ही ओवर में २ बल्लेबाज़ों को पवेलियन का रास्ता दिखाया पर हार्दिक पंड्या ने न उन्हें १८वा ओवर दिया और न ही १९वा।

इतनी बेहतरीन गेंदबाज़ी के बाद चहल को ओवर न देना क्रिकेट जगत को बिलकुल रास नहीं आ रहा और ट्विटर पे बहुत सरे लोगों ने चहल को फिर से ओवर न देने की बात को सीधा गलत माना हे और हार्दिक पंड्या को कप्तानी में चूक के लिए जिम्मेदार ठराया हे।

आकाश चोपड़ा ने ट्विटर पे लिखा हे :-

अभी आज ही डिक्लेअर हुई एशिया कप की स्क्वाड में फिरसे चहल को जगह नहीं मिली हे। दिलचस्प बात हे ये हे पूरा साल क्रिकेट खेलने के बाद सिर्फ वर्ल्ड कप से पहले ही चहल को घर का रास्ता दिखा दिया जाता हे।

कुलदीप यादव का फॉर्म इस समय अच्छा हे , पर देखना होगा वर्ल्ड कप में उनका प्रदर्शन कैसा रहता हे , आईपीएल २०२३ में भी उनका प्रदर्शन किसी मैच में तो अच्छा रहता तो किसी में एकदम बेकार, ऐसे में बहुत ज़रूरी हो जाता हे की शुरुआत के मैचेस में अगर कुलदीप यादव को आड़े हाथ लेती हैं और उनपे अटैक करने को देखती हैं तो कुलदीप यादव कैसे जवाब देंगे।

वर्ल्ड कप २०२३ अब कुछ महीने ही दूर हे, इसलिए क्रिकेट फैंस चाहेंगे की चहल का मन एकदम पॉजिटिव रहे और जब वो कॉंफिडेंट होंगे की टीम मैनेजमेंट उनको उनके प्रमुख स्पिनर की तरह देख रही हे तो ज़ाहिर हे वो मैदान पर अपना सर्वश्रेस्थ खेल प्रदर्शित करेंगे और टीम इंडिया को १२ साल बाद वर्ल्ड कप जिताने में मदद करेंगे।

Leave a Comment